आईपीइस अधिकारी डॉ. हनीफ कुरैशी करेंगे मार्गदर्शन

Dr. Hanif Qureshi, IPS, to mentor Centre for Criminology and Public Policy, India
January 21, 2019

आईपीइस अधिकारी डॉ. हनीफ कुरैशी करेंगे मार्गदर्शन

Dr. Hanif Qureshi, IPS. Photo Credits: Special Arrangement

rochinशुभांगी श्रीवास्तव
अर्ली करियर रिसर्च इंटर्न
सेण्टर फॉर क्रिमिनोलॉजी एंड पब्लिक पॉलिसी

जनवरी 22, 2019
फाइल्ड अंडर: मेंटर, एविडेन्स -बेस्ड पोलिसिंग न्यूज़, सेण्टर फॉर क्रिमिनोलॉजी एंड पब्लिक पॉलिसी

उदयपुर: भारतीय पुलिस सेवा के विशिष्ट अधिकारी डॉ. हनीफ कुरैशी अपराध को अनुसंधान द्वारा रोकने के लिए उदयपुर में संचालित सेंटर फॉर क्रिमिनोलॉजी एंड पब्लिक पाॅलिसी (सीसीपीपी) में मेंटर की भूमिका निभाने के साथ एक विशेषज्ञ ग्रुप एविडेंस बेस्ड पुलिसिंग (ईबीपी) नेटवर्क की अध्यक्षता करेंगे, जिसका उद्देश्य कठोर रिसर्च और विश्लेषण के माध्यम से पुलिसिंग में सिद्धांत, ज्ञान और अभ्यास को आगे बढ़ाना है।

डॉ कुरैशी का मार्गदर्शन मिलने पर सीसीपीपी के निदेशक और प्रैक्टिसिंग अपराध शास्त्री, आर. रोचिन चंद्रा ने कहा, “हम बेहद भाग्यशाली है की डॉ कुरैशी जैसे बेहतरीन आईपीएस अधिकारी सीपीपी को सलाह देंगे। उनका व्यापक पुलिसिंग अनुभव हमारी अनुसंधान गतिविधियों को एक बहुत आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान करेगा”।

ईमेल द्वारा संपर्क किये जाने पर डॉ कुरैशी ने सीसीपीपी के साथ जुड़ने का जिक्र करते हुए कहा कि, “अगर अनुसंधान के निष्कर्षो का लोगों के दैनिक जीवन पर कोई प्रभाव देखना है तो पुलिस के साथ अपराध पे शोध कर रहे विशेषज्ञों को जोड़ना आवश्यक है। अनुसंधान का उद्देश्य दुनिया को जीने के लिए एक बेहतर जगह बनाना है, और जो लोग इस बदलाव को संभव बना सकते हैं वे हैं पुलिसकर्मी। अपराध शोध्कर्ताओं को अपने निष्कर्षों को न केवल पालिसी इंस्टीटूशन के लिए सुगम बनाना होगा, बल्कि ऐसी भाषा में प्रकाशित करना होगा, जिसे ज्यादातर लोग समझ सके। इसी तरह, प्रशासकों और नीति निर्माताओं को अपना मन नए विचारों के लिए खुला रखना होगा और नयी स्ट्रेटजीस अपनानी होगी”।

उन्होंने ये भी बताया की कानून का शासन न केवल एक सभ्य समाज का आधार है, बल्कि भारत के संविधान का आधार भी है। डॉ कुरैशी, जो दो दशकों से आईपीइस अधिकारी के रूप में उच्च पद पर कार्यरत हैं केहते हैं, “कानून की अनुपस्थिति में जंगल राज़ बस जयेगा जहाँ ताकतवर ही सही होगा”।

“आपराधिक न्याय व्यवस्था में पुलिस, प्रॉसिक्यूटर्स, जुडिशरी, और करेक्शनल एडमिनिस्ट्रेशन सबसे महत्वपूर्ण प्रणाली है जो कानून के शासन को बनाए रखने की कोशिश करती है। चाहे वह महिलाओं के खिलाफ अपराध हो, वाइट कॉलर अपराध हों, ट्रैफिक दुर्घटनाओं के कारण जान जाना हो, बच्चों के खिलाफ हिंसक अपराध हों या फिर वर्तमान व्यवस्था की कमजोरियों का पता लगाने हो। उन्हें ठीक करने के लिए निरंतर शोध की आवश्यकता है।“

न्याय व्यवस्था में सुधार के लिए सीसीपीपी की क्षमता को स्वीकारते हुए, डॉ कुरैशी ने कहा, “समाज में शांति और व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपराध से जुड़े शोधकर्ता और आपराधिक न्याय व्यवस्था दोनों जिम्मेदार हैं। जब तक ये दोनों एक दूसरे के साथ मिलकर काम नहीं करते तब तक न्याय करना मुश्किल होगा।

डॉ कुरैशी के सीसीपीपी के साथ जुड़ने पर, अपराधशास्त्री चंद्रा ने कहा, “एक थिंक-टैंक के रूप में, सीसीपीपी लगातार अनुसंधान को अभ्यास के साथ जोड़ने के अवसरों की खोज में रहता है । उदाहरण के तौर पे, पिछले साल, सीसीपीपी ने अपराध को कम करने व जनता की सुरक्षा बढ़ाने के लिए पुलिस-अपराध शास्त्री की साझेदारी को बढ़ावा देते हुए एक व्यापक नीति प्रस्ताव जारी किया। इस प्रस्ताव का सकारात्मक प्रभाव देखते हुए, सेंटर ने एविडेंस-बेस्ड पुलिसिंग (ईबीपी) नामक एक विशेषज्ञ नेटवर्क बनाने का निर्णय लिया, और डॉ कुरैशी को नेटवर्क की रिसर्च व कंसल्टेंसी संभंधित गतिविधियों के नेतृतव के लिए आमंत्रित किया। इस अवसर पर उत्साह प्रकट करते हुए, डॉ कुरैशी ने ईबीपी नेटवर्क का नेतृत्व करने के लिए ईमेल द्वारा सहमति व्यक्त की, और पुलिसिंग में एविडेंस-बेस्ड योगदान को सुविधाजनक बनाने के लिए एक कार्य योजना का प्रस्ताव दिया”।

अपराधशास्त्री चंद्रा ने कहा, “हमें विश्वास है कि सीसीपीपी का (ईबीपी) नेटवर्क शोधकर्ताओं और पुलिस के बीच एक गतिशील इंटरफ़ेस बनाकर दोनों कम्युनिटी के बीच की बाधाओं को दूर करेगा।” डॉ कुरैशी की प्रशंसा करते हुए, अपराधशास्त्री चंद्रा ने बताया की, डॉ कुरैशी अपराध सम्बंधित निति निर्माण के लिए अपराधशास्त्र का ज्ञान मूल्यवान समझते है।

डॉ कुरैशी ने अमेरिका की सिनसिनाटी विश्वविद्यालय से आपराधिक न्याय में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की, जहां उन्होंने 2015 तक दो साल के लिए सहायक प्रोफेसर के रूप में सेवाएं दी और डिस्टेंस लर्निंग के ज़रिये क्रिमिनोलॉजी और पुलिसिंग में पाठ्यक्रम भी पढ़ाया। अपने पुलिस कौशल के लिए जानेमाने, डॉ कुरैशी सबसे प्रभावशाली Tedx वक्ताओं में से एक है और एक प्रसिद्ध सार्वजनिक बौद्धिक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *